रविवार, 23 अक्तूबर 2011

मुझे अच्छा लगा यह ' हारम ', आपको क्या लगता है ?

.
.
.

मेरी पोस्ट बड़ी मुश्किल है भाई, कोई और जुगाड़ जानते हो क्या आप ?  पर प्रिय चंदन कुमार मिश्र ने अपने कमेंट में इसका लिंक दिया था... 





यह अच्छा संकलक है...


सारी नई ब्लॉग पोस्टें आप देख सकते हो यहाँ  ...


जगह जगह हो रही विभिन्न टिप्पणियाँ भी यह दिखाता है यहाँ ...


आप यह भी देख सकते हैं कि पिछले चौबीस घंटे में किसने कितना टिपियाया या कितनी पोस्टें की...


सीधा सरल इन्टरफेस भी है इसका...

कुल मिलाकर मुझे तो बहुत जमा यह ' हार ' ...







आपको क्या लगता है ?




...





2 टिप्‍पणियां:

चंदन कुमार मिश्र ने कहा…

शुक्रिया प्रवीण जी। रवि श्री रतलामी जी ने इसका जिक्र किया था कुछ दिन पहले। यह वाकई में अच्छा है…

Mired Mirage ने कहा…

अहा, मेरा सौभाग्य कि मैं लौटकर पीछे की ओर आई.यह हारम तो बहुत अच्छा लग रहा है. लगता है यह हमारी ब्लॉग पढ़ने में आने वाली समस्याओं का समाधान हो सकता है. मन खुश हो गया. बहुत बहुत आभार.
घुघूतीबासूती