बुधवार, 20 अप्रैल 2011

आज का अटपटा सवाल : ग्लैमर, सुन्दरता, आकर्षण, महिलायें और स्कर्ट ...

.
.
.
एक खबर है यहाँ पर... जिसके अनुसार बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन ने एक नया ड्रेस कोड लागू किया है जिसके अनुसार १ मई से सभी महिला बैडमिंटन खिलाड़ियों के लिये स्कर्ट पहनना अनिवार्य होगा... खिलाड़ी यदि चाहें तो ' शॉर्ट्स ' या निकर पहन सकती हैं, परंतु उन्हें उसके ऊपर स्कर्ट पहनना अनिवार्य होगा...

सूत्रों के मुताबिक ऐसा महिला बैडमिंटन को आकर्षक बनाने व टेनिस की तरह ग्लेमराइज करने के लिये किया गया है...

मेरा सवाल यह है कि महिला खिलाड़ियों के प्रदर्शन को मैदान पर जाकर या टेलिविजन पर देखने वाले दर्शक खेल को देखते हैं या ग्लैमरस, आकर्षक व सुन्दर खिलाड़ियों को ?



...





5 टिप्‍पणियां:

रचना ने कहा…

praveen
yesterday when this news was coming a old news flashed my mind where the community was upgainst sania miraza for wearing skirt and most woman organisations were saying that she should be allowed to wear skirts
now the same organsiations are up against BFA for asking to wear skirts

i think some where down the lane we protest EVERY RULE instead of following rules

once a member is enrolled into a association its mandatory to follow the rule

there was more than 1.5 years time given for the implementation of this code of conduct

as regardsमेरा सवाल यह है कि महिला खिलाड़ियों के प्रदर्शन को मैदान पर जाकर या टेलिविजन पर देखने वाले दर्शक खेल को देखते हैं या ग्लैमरस, आकर्षक व सुन्दर खिलाड़ियों को ?

as long as we associate woman with beauty such questions are insignificant . but i would really like to read how many man will give a truthful answer , and your answer as well

डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर ने कहा…

जब क्रिकेट के मैदान में अर्धनग्न महिलायें चीयर्स गर्ल के नाम पर, मनोरंजन के नाम पर नचवाई जा सकतीं हैं, जहाँ आदमी क्रिकेट खेल रहे हैं तो फिर यहाँ तो मामला खुद लड़कियों के खेलने का है...
ऐसे निर्णयों पर क्या राय दी जाए...??
--------------------------
जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

Kavita Prasad ने कहा…

Dekhte to match hain, lekin aakarshan seat se bandhe rakhta hai... aur yeh aakarshan veshbhusha ka nahi pure vayaktiv ka hota hai!

प्रवीण शाह ने कहा…

.
.
.
@ Rachna ji,

As a die-hard Fan, I love watching all kinds of sports, in fact I named my elder daughter after 'Serena' Williams, but, at the same time I watch certain sports, about which I don't know much, for the abundant glamor and sensuousness.



...

किलर झपाटा ने कहा…

आह डॉ. जमाल को बहुत सैक्सी फ़ील हो गया होगा।